अरबों रुपए कमाने वाले धोनी में आज भी जिंदा है एक आम इंसान, सबूत हैं ये 10 तस्वीरें

अरबों रुपए कमाने वाले धोनी में आज भी जिंदा है एक आम इंसान, सबूत हैं ये 10 तस्वीरें

देश भारत के सबसे सफल और लोकप्रिय महान क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की सादगी अपने आप में एक मिसाल है. लोग धोनी को इस हद तक चाहते है की जब भी उनका जन्म दिन आता है तो पूरे देश भर में फैन्स ने उनके जन्मदिन को काफी धूमधाम से मनाते है. धोनी के चाहने वालों ने उन्हें विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों के जरिये भी विश करते है.

loading...

आज की इस पोस्ट में हम आपके चहिते क्रिकेटर धोनी के बारे में कुछ बेहद ख़ास बायत बताने वाले है. महेंद्र सिंह धोनी इतने फेमस और अमीर होने के बावजूद भी बिलकुल आम इंसान की तरह ही अपनी जिंदगी जीते है.

महेंद्र सिंह अपने आपमें एक क्रिकेट ब्रांड है. इतने पॉपुलर क्रिकेट स्टार होने के बावजूद भी वो जमीन से जुड़े हुए है.इस बात का सबूत तब मिलता है, जब धोनी फरवरी 2017 में झारखंड की ओर से विजय हजारे ट्रॉफी में खेल रहे थे. कोलकाता पहुंचे धोनी को उनका पुरान दोस्त मिला, जो कि स्टेशन पर चाय की दुकान लगाता था.दरअसल धोनी जैसे ही मैदान से बाहर निकले तो देखा उनसे कोई मिलने आया है, वह उनका पुराना दोस्त थॉमस था. धोनी ने उन्हें झट से पहचान लिया और गले लगाया.

सेलेब्रिटी की ड्रेस से लेकर हेयर स्टाईल तक सबकुछ प्रोफेशनल होता है. मगर महेंद्र सिंह, माही के लिए यह बिल्कुल वैसा ही है जैसे एक आम इंसान के लिए. साल 2016 में धोनी ने अपने अफिशल इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक फोटो पोस्ट की थी, जिसमें एक साधारण नाई से बाल कटवा रहे थे.

कुछ समय पहले महेंद्र सिंह धोनी ने उस समय सभी लोगो को चौंका दिया था, जब वह प्लेन की बजाए ट्रेन का सफर करने लगे थे. माही अपने झारखंड के पुराने साथियों के साथ ट्रेन में बैठकर रांची आए थे. इस दौरान धोनी आम जनता की तरह ट्रेन में बैठे और सफर पूरा किया था.

महेंद्र सिंह धोनी का जब घर बन रहा था, तो इस दौरान वो वहां जाया करते थे. एक दिन धोनी ने देखा कि कोई पत्थर चिकना नहीं हैं. बस फिर क्या वह खुद मशीन लेकर मार्बल की घिसाई करने में लग गए थे. इसकी तस्वीर सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर जमकर वायरल हुई थी. लोगों ने धोनी के इस सादगी वाले अंदाज को काफी पसंद किया था.

हाल ही में आयरलैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में धोनी को आराम दिया गया था.हालांकि धोनी मैदान पर मजबूत थे मगर प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं थे. बीच मैच में जब साथी खिलाड़ी को प्यास लगी तो महेंद्र सिंह धोनी खुद ड्रिंक्स ब्वॉय बनकर पानी लेकर मैदान के अंदर पहुंचे.

पिछले साल भारतीय टीम श्रीलंका दौरे पर गई थी. वहां एक मैच में श्रीलंका को हारता देख दर्शकों ने मैदान पर बोतले फेंकनी शुरु कर दी थी. जिसके बाद खेल रोक दिया गया और कुछ खिलाड़ी वापस पवेलियन लौट गए लेकिन महेंद्र सिंह धोनी बीच मैदान पर ही लेट गए थे. धोनी ने ग्‍लव्‍स उतारकर उल्‍टा होकर एक झपकी ले ली. जिसकी फोटो खूब वायरल हुई थी.

महेंद्र सिंह धोनी को बाइक से कितना लगाव है यह हम सब जानते हैं. रांची में धोनी को बाइक से घूमते कई बार देखा गया है. वह बिल्कुल आम इंसान की तरह बिना किसी सिक्योरिटी के घूमते हैं.

एक मिडिल क्‍लॉस फैमिली से आकर क्रिकेट दुनिया में अपना बड़ा नाम बनाने वाले माही का अंदाज वाकई में बेहद निराला है. महेंद्र सिंह को चेन्‍नई एयरपोर्ट पर जमीन पर लेटे हुए देखा गया था. BCCI ने खुद धोनी की फर्श पर लेटे हुए फोटो ट्वीट की थी. यानी कि करोड़ों कमाने वाला यह खिलाड़ी डाउन टू अर्थ भी है.

इसी साल IPL के दौरान महेंद्र सिंह धोनी के ऑफिशियल इंस्‍टाग्राम पर उनका एक क्‍यूट वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो में धोनी अपनी बेटी जीवा की सेवा करने में लगे हुए थे. दरअसल माही अपनी बेटी के बालों को हेयर ड्रायर से सुखा रहे थे.

क्रिकेट से फुर्सत मिलते ही धोनी अपना पूरा समय अपने परिवार के साथ बिताया करते है. सोशल मीडिया साइट्स पर अक्‍सर महेंद्र सिंह धोनी को बेटी जीवा के साथ खेलते देखा जा सकता है. ऐसा ही एक वीडियो सामने आया था, जब वह जमीन पर लेटे-लेटे जीवा के साथ रेस लगा रहे थे.

शनिवार को स्वतंत्रता दिवस वाले दिन महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Retirement) ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट किया। इसमें उनके करियर के खास लम्हे थे। बैकग्राउंड में गीत बज रहा था। फिल्म कभी-कभी का सा हिर लुधि यानवी का लिखा और मुकेश की आवाज में गाया हुआ। एक वीडियो के साथ शेयर किए गए कैप्शन ने भारतीय क्रिकेट और क्रिकेट फैंस में हल चल म चा दी। इस पर लिखा था- ‘इस सफर के लिए आपके प्यार और स मर्थन के लिए बहुत शुक्रिया। आज 1929 (शाम सात बजकर 29 मिनट) से मुझे रिटा यर समझा जाए.

बात पर चंद अफ्लाज की थी लेकिन इनमें काफी कुछ कहा गया। धोनी के साथ एक करियर का पटाक्षेप हो गया। पर एक सवाल जेहन में जरूर रहा। आखिर धोनी ने वक्त 1929 क्यों चुना। हां, वह से ना में रहे हैं जहां एक-एक मिनट कीमती हैं। हां, धोनी को लोगों को हैरान करने की आदत है। अपने करियर में उन्होंने कई बार ऐसा किया है। पर उन्होंने अपने करियर का अंत भी इस ‘रह स्यमय’ वक्त के साथ क्यों किया।