न शे में छेड़-छाड़ से गंदे होटल रूम तक, IPL के इन 6 काले सच का चीयरलीडर्स ने किया था खुलासा

न शे में छेड़-छाड़ से गंदे होटल रूम तक, IPL के इन 6 काले सच का चीयरलीडर्स ने किया था खुलासा

IPL 2020: IPL की लोकप्रियता का आलम ये है कि हर बीतते साल के साथ इस टूर्नामेंट संग बड़े-बड़े नाम जुड़ते जा रहे हैं। हालांकि सफलता के चरम पर बैठे इस लीग पर कई दाग भी लगे। इसमें मैच फि क्सिंग, खिलाड़ियों के बीच विवा द और छेड़-छाड़ के मामले शामिल हैं। आईपीएल की चीय-रलीडर्स ने भी बीते सालों में कुछ ऐसे खुलासे किये जिनके बारे में लोगों को पता नहीं होगा। आइए जानते हैं चीयरली डर्स द्वारा बताए गए IPL के 6 डा र्क सी क्रेट्स–

loading...

नस्ल भेद:

देखा गया है कि चीयरलीडर्स ज्यादातर विदेशी मूल की औऱ गोरी होती हैं। कुछ चीयर-लीडर्स ने इसपर मीडिया में बताया था कि आयोजक किसी भी अ श्वेत ल ड़की को चीयरली डिंग टीम में नहीं रखना चाहते हैं।

कुछ चीयर-लीडर्स ने यह भी कहा था कि आयोजक नहीं चाहते कि भारतीय लड़कियां स्कि-नी आउट-फिट पहनें, यह भी एक तरह का नस्लवाद है। चीयर-लीडर्स ने कहा था कि इस तरह के नस्ल-भेद के कारण कई प्रतिभाशाली लड़कियों को मौका नहीं मिल पाता है।

बॉलीवुड से रिश्ता:

अधिकतर चीयर-लीडर्स बॉलीवुड की फिल्मों में भी नजर आ चुकी हैं। चीयर-लीडर्स ने बताया था कि जो कंपनी आईपीएस को चीयर-लीडर्स देती है वही बॉलीवुड में डांस ट्रुप्स भी सप्लाई करती है। इस कारण बहुत सी चीय-रलीडर्स को फिल्मों में काम करने का मौका भी मिल जाता है.

आईपीएल की पार्टियों में बदतमीजी:

खिलाड़ियों को रिफ्रेश करने के लिए देर रात तक आईपीएल पार्टियां चलती हैं। इनमें चीयरलीडर्स को भी शामिल किया जाता है। एक बार गैब्रिएला पसक्लोत्तो नाम की एक चीयर-लीडर ने खुलासा किया था कि कुछ ऑस्ट्रेलियाई और दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों ने न शे में होने के कारण उसके साथ अनुचित व्यवहार किया। ऐसी अटकलें भी थीं कि मैच फि क्सिंग की चर्चा भी पार्टियों में होती है.

भुगतान की समस्या:

कुछ साल पहले राजस्थान रॉयल्स की दो चीयर-लीडर्स ने खुलासा किया था कि कभी-कभी उनके भुगतान समय पर जारी नहीं किए जाते हैं। उन लोगों ने उन जरूरी चीजों की उपलब्धता ना होने को लेकर भी शिकायत की थी जो कि उनकी यात्रा के दौरान होनी चाहिए।

गंदे होटल:

कुछ चीयर-लीडर्स इस बात का खुलासा भी कर चुकी हैं कि उन्हें ठहरने के लिए ज्यादातर एक-स्टार होटल ही आवंटित किए जाते हैं। इनमें पर्याप्त सुविधाएं नहीं होती हैं। कुछ ने यह कह कर चौंका दिया था कि होटलों में उनके कमरे बहुत गंदे होते हैंऔर साथ ही कमरे में इधर उधर जानवरों के मल पड़े रहते हैं।

शो षण:

IPL में उत्पी ड़न की घटनाओं पर कई बार चीयरलीडर्स ने अपनी नाराजगी जताई है। कई बार ऐसा हुआ है जब उन्होंने सुरक्षा चिंताओं को उठाया। हालांकि, अधिकारियों ने कभी भी उनके समाधान पर काम करने की कोशिश नहीं की है। एक चीयरलीडर ने मीडिया को बताया ता कि ज्यादातर भारतीय दर्शक उन्हें से क्स डॉ ल्स समझते हैं। आयोजक भी उन्हें अ सहज कपड़े पहनने के लिए देते हैं जो ठीक से डिज़ाइन तक नही किये जाते.